अपने शरीर की न करें अनदेखी, सुने उसकी आवाज़

देरी, अनदेखी, लापरवाही और जानकारी का अभाव अकसर हमारे लिए सेहत से जुड़ी गंभीर समस्या का कारण बन जाता है। ऐसे ही मुद्दों में से एक है पेशाब का महसूस होना और उसके निस्तारण में देरी करना। विशेषज्ञ बताते हैं कि ऐसा करके आप मुसीबतों को न्योता दे रहे हैं। हमारा शरीर कुदरत की एक बहुत अच्छी कृति है, जो अपने लिए जरूरी हर काम के लिए समय-समय पर अलार्म बजाकर हमें सतर्क करता रहता है। ऐसी ही एक प्रक्रिया है पेशाब का महसूस होना और उसका निस्तारण। कई बार हम ऐसी परिस्थिति में होते हैं कि अलार्म बजने के बाद भी इस प्रक्रिया को पूरा नहीं कर पाते, यानी महसूस होने पर भी हम उसे रोक कर रखते हैं।

ऐसा कभी-कभी हो, तो फर्क नहीं पड़ता, लेकिन अगर आप अकसर ऐसा करते हैं, तो यकीनन यह आपकी सेहत पर ग्रहण लगा सकता है।