आरएसएस नेता चंद्रकांत शर्मा और उनके सुरक्षा अधिकारी की हत्या के मामले में नया खुलासा हुआ…

हिजबुल ने 16 से 25 साल के युवाओं की एक टीम तैयार की है, जिसका नाम किलर टीम रखा है. जाहिद भी इसी टीम का हिस्सा है. जाहिद के दो भाई भी हिजबुल मुजाहिद्दीन में थे

जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ आरएसएस नेता चंद्रकांत शर्मा और उनके सुरक्षा अधिकारी की हत्या के मामले में नया खुलासा हुआ है. इस हत्या में शामिल आतंकी की पहचान हो गई है. जाहिद नाम के इस आतंकी की पुलिस ने तस्वीर भी जारी की है. किश्तवाड़ के स्वास्थ्य केन्द्र में इस आतंकी ने 9 अप्रैल को गोलियां चलाकर चंद्रकांत शर्मा और उनके पीएसओ की हत्या कर दी थी.

जाहिद के दो भाई भी हिजबुल मुजाहिद्दीन में थे

बड़ी बात ये है कि हिजबुल ने 16 से 25 साल के युवाओं की एक टीम तैयार की है, जिसका नाम किलर टीम रखा है. जाहिद भी इसी टीम का हिस्सा है. जाहिद के दो भाई भी हिजबुल मुजाहिद्दीन में थे जिन्होंने सरेंडर कर दिया था. इस टीम का काम अपने टार्गेट की पहचान कर उसकी हत्या करना है.

गौरतलब है कि हत्या से पहले चंद्रकांत शर्मा और उनके पीएसओ राजिंदर किश्तवाड़ के स्वास्थ्य केन्द्र में आये हुये थे. आतंकी उनकी आवाजाही पर नजर बनाए हुए थे. इस गोलीबारी में पीएसओ की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि आरएसएस नेता की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी. इससे पहले एक नवम्बर में बीजेपी की राज्य इकाई के सचिव अनिल परिहार और उनके भाई अजित की किश्तवाड़ में आतंकवादियों ने दुकान से लौटते समय हत्या कर दी थी.